Friday, November 27

भागलपुर इन तीन जेलों में बंद कैदी वीडियो कॉल पे पुरे परिवार का ले सकेंगे हालचाल, नयी व्यवस्था लागू

कोरोना वायरस से सुरक्षा को मुलाकाती व्यवस्था बंद भले कर दी गई है पर कारा मुख्यालय कैदियों को परिजनों से वीडियो काल कराएगा। यहां की तीनों जेलों शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा, विशेष केंद्रीय कारा और महिला मंडल कारा के लिए आपरेटर की तैनाती कर दी गई है। बगैर जेल आए ही घर बैठे परिवार के लोग जेल में बंद अपने परिजन से सपरिवार बात कर सकेंगे। जेल प्रशासन स्थानीय स्तर पर दो दिन पूर्व उसका ट्रायल करा चुकी है। जेल उपाधीक्षक राकेश कुमार सिंह कहते हैं कि आपरेटर से जब परिजन मोबाइल पर बात करेंगे तो उन्हें वह एक एप डाउनलोड करने को देगा। फिर उस एप के सहारे जेल प्रशासन अपनी निगरानी में कैदियों को उनके परिजन से बात कराएगा।

 

 

मुलाकाती नियम बंद होने से बाहर परिजन तो अंदर कैदी परेशान

जेल में कैदियों से मुलाकाती व्यवस्था बंद होने से जेल में बंद कैदी परिजनों का हाल जाने बगैर परेशान हैं वहीं परिजन भी बेचैन हैं। कारा मुख्यालय सुरक्षा कारणों से मुलाकाती व्यवस्था स्थगित रखने का फैसला लिया है। लेकिन हालात से वाकिफ वीडियो काल कराएगी। कारा कर्मियों की निगरानी में परिजनों से बात कराया जाएगा।

 

 

इन आपरेटरों की हुई तैनाती शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा में

सीनियर प्रोग्रामर राजा कृष्णा झा (9576865816), विभाष कुमार राय, प्रोग्रामर(7808226133), विशेष केंद्रीय कारा में यह जिम्मेदारी प्रोग्रामर अमित कुमार(8210982933), अंजनी कुमार सिंह(7299662350) और महिला मंडल कारा में प्रोग्रामर जया चौधरी (7272988361) को यह जिम्मेदारी दी गई है। परिजन इनके नंबरों पर संपर्क करेंगे। जहां जेल अधिकारियों की निगरानी में कैदियों से परिजनों की बात घर बैठे कराई जाएगी। यह व्यवस्था मंगलवार से प्रभावी हो जाएगी। अबतक देश में कोरोना वायरस से सुरक्षा को लेकर बंद की गई मुलाकाती व्यवस्था बाद केवल तमिलनाडु की जेल में यह व्यवस्था लागू थी।

 

 

वहां कारा मुख्यालय की ओर से जेल प्रशासन को एंड्रायड मोबाइल सेट मुहैया कराया गया है। जहां से जेल प्रशासन की निगरानी में कैदियों को उनके परिजनों से रोज वीडियो काल कराया जा रहा है। कोरोना वायरस से सुरक्षा को लेकर मुलाकाती व्यवस्था स्थगित की गई है। इससे परिजन और कैदियों में एक दूसरे का हाल जानने की बेचैनी को देखते हुए यह व्यवस्था लागू की जा रही है। – संजय कुमार चौधरी, कारा अधीक्षक, भागलपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *