Thursday, February 25

बिहार के सभी थानो में नयी व्यवस्था, अब थानो में कोई भी आसानी से कर सकता है सम्पर्क

भागलपुर,( कुलसूम फात्मा ) भागलपुर के साथ-साथ सूबे के सभी थानों में अब लैंडलाइन फोन दिखेंगे जी हां पुलिस मुख्यालय ने बीएसएनएल के लैंडलाइन शुरू किये जाने  का निर्णय लिया और सेवा के लिए पत्र लिखा आज ज़िलों के कई थानों के लैंडलाइन फोन तकनीकी वजह से बंद पड़े हुए हैं। कई थानों में बेसिक फोन है ही नहीं, उन्हें बहुत जल्द दुरुस्त किया जाएगा ताकि उपयोग में लिया जा सके यही नहीं अब सभी थानों में बेसिक फोन रहे यह व्यवस्था की जाएगी।

 

 

क्योंकि कभी-कभी थाना अध्यक्ष रात में सरकारी मोबाइल फोन घर लेकर चले जाते हैं। यही नहीं इन नंबरों को स्विच ऑफ भी कर दिया जाता है या फिर ये नंबर बिजी मिलते हैं, इसकी कई बार शिकायत मिल चुकी है। उपर्युक्त समस्याओं को ध्यान में रखते हुए अब लैंडलाइन फोन को शुरू करने का विचार विमर्श किया जा रहा है। ज्यादातर थानों में सरकारी फोन उपलब्ध कराने के बाद लैंडलाइन नंबर पिछले 8 ,9 वर्ष से तकनीकी वजहों से कार्य नहीं कर रहे हैं। टेलीफोन की कहीं कहीं घंटी बजती भी है तो वहां उसको देखने वाला कोई नहीं होता है। कई थानों के तो दूरभाष नंबर पर संपर्क करने पर खराब होने के कारण गड़गड़ाहट की आवाज आती है।

 

 

ऐसी हालात में किसी घटना के घटित होने की सूचना सरकारी मोबाइल फोन नंबर पर या फिर जिन थानों में सरकारी मोबाइल नंबर नहीं उपलब्ध कराए गए हैं। वहां थाना अध्यक्ष के निजी मोबाइल नंबर मजबूरन देनी पड़ती है। थानाध्यक्ष से रात के 10:00 बजे के बाद कांटेक्ट नहीं हो पाता है। थाना के नंबर पर संपर्क करने पर उपभोक्ता से यदि संपर्क करना चाहते हैं तो नेटवर्क एरिया के बाहर बताता है। उनका मोबाइल कभी-कभी तो बिजी बताता है, या फिर स्विच ऑफ बताता है। रिंग हुई भी तो कभी कभी रिसीव कॉल नहीं की जाती है। ऐसे में यदि कोई घटना रात में घटित हो तो पुलिस की सहायता कैसे ली जाए? सूचना देने के लिए सुबह होने का इंतजार करना पड़ता है या फिर थाना पहुंचने के अलावा कोई और दूसरा चारा नजर नहीं आता है। उपर्युक्त समस्याओं को मद्दे नजर रखते हुए पुलिस मुख्यालय थानों में बेसिक फोन की व्यवस्था करने जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *