Friday, November 27

बिहार में जमीन मालिकों को फरमान, मामला दाखिल ख़ारिज और टोपो से जुड़ा है जरूर पढ़े

विश्व विख्यात हरिहर क्षेत्र का सोनपुर मेला इस साल कोरोनावायरस के कारण नहीं लगेगा। कोविड-19 संक्रमण के कारण इस प्रसिद्ध मेले पर रोक लगाई गई है क्योंकि यहां देश-विदेश के लोग मेले का आनंद उठाने आते हैं। और बहुत बड़ी संख्या में जहां लोग आते हैं जिसके कारण कोविड-19 के निर्देशों का पालन करना बहुत कठिन है। भूमि सुधार एवं राजस्व तथा विधि मंत्री रामसूरत राय ने बुधवार को कहा कि कोविड-19 के बचाओ को मद्देनजर रखते हुए इस साल हरिहर क्षेत्र का मेला के आयोजन पर रोक लगाई गई है।

 

 

इस मेले में दूर-दूर के व्यापारी और कलाकार आते हैं। विधि मंत्री रामसूरत राय ने किसान भाइयों और पशुपालकों से क्षमा मांगते हुए कहा कि इस साल की कमी अगले साल पूरी की जाएगी और अगले साल पूरे धूमधाम के साथ यह मेला आयोजित किया जाएगा। रामसूरत राय बुधवार को सोनपुर में ही रुके थे। और उन्होंने गरीबों से कहा कि किसानों की समस्या का समाधान उनकी पहली प्राथमिकता है और नई सरकार गरीबों की है।

 

 

दाखिल खारिज का मामला हो या भूमि से संबंधित कोई मामला हो उसके निदान का हर संभव प्रयास किया जाएगा। इससे पहले बिहार सरकार की अरबों खरबों की जमीन कुछ लोग अपने दांव पर लगाकर हड़पने की कोशिश किया करते थे मगर अब ऐसा कुछ नहीं कर पाएंगे। भूमि मामलों को सुलझाने के लिए अमीन और कानूनगो की नियुक्ति आवश्यक है।

 

 

और उन्होंने कहा कि जो गरीबों की भूमि पर कब्जा जमाए हैं उनको वहां से बेदखल किया जाएगा और गरीबों को वापस उनका हक दिलाया जाएगा। उन्होंने टोपो लैंड की समस्या पर भी कहा कि संबंधित फाइलों को देखेंगे और समस्या का समाधान की दिशा में कदम बढ़ाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *