Sunday, May 16

अच्छी ख़बर – भारत में आई तीसरी कोरोना वैक्सीन , जाने कितनी इफेक्टिव होगी वैक्सीन।

सोमवार को रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष ने बताया के भारत ने तीसरी कोरोना वैक्सीन के रूप में रूस की स्पूतनिकवी आपात प्रयोग के लिए स्वीकृति दे दी है और इस मामले में भारत 60वां देश बना है। कोरोना वायरस के विरुद्ध 3 बिलियन तथा 40% की कुल आबादी वाले देशों में इस स्थिति को मंजूरी मिल गई है।

 

 

आरडीआईएफ की ओर से घोषणा करते हुए कहा ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने देश में कोरोना महामारी के विरुद्ध रूसी स्पूतनिक वी वैक्सीन के इस्तेमाल को स्वीकृति दे दी जिसमें से संयुक्त अरब अमीरात बेलारूस, सर्बिया, बोलिए बोलिविया, अर्जेंटीना, और वेनेजुएला फिलिस्तीन अल्जीरिया, तुर्कमेनिस्तान तथा पैराग्वे सम्मिलित है। और भारत इन सबमें स्पूतनिक वी को स्वीकृति देने वाला देश है। बता दे भारत में इस वैक्सीन को प्रयोग की स्वीकृति रूस में इसके क्लीनिकल ट्रायल के पॉजिटिव रिजल्ट के पश्चात मिली। देश में आज के समय में एक्स्ट्राजेनेका कोविशील्ड तथा इंडिया बायोटेक वैक्सीन सिटी का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। और रूसी वैक्सीन स्पूतनिक इन दोनों को देखते हुए अधिक सरकारी बताई जा रही है।

 

 

स्पूतनिक वी का ट्रायल हैदराबाद की कंपनी द्बारा –

और इस वैक्सीन को नियमित ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने पूर्ण रूप से सुरक्षित तथा संक्रमण रोकने में असरकारी पाये जाने के पश्चात ही मंजूरी दी। ये रूसी वैक्सीन परीक्षण में 91.6% असरकारी पाई गई। यदि देखा जाए तो वर्तमान समय में इसकी कीमत को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिल पाई है और अब तक की सबसे असरकारी इस वैक्सीन को 59 देशों में मंजूरी मिली दी जा चुकी है जिसमें अब भारत भी 60वां देश बना है। मीडिया रिपोर्ट ने बताया रूस के गमलेया रिसर्च सेंटर के जरिए इस विकसित वैक्सीन स्पूतनिकवी ट्रायल इंडिया में हैदराबाद की कंपनी में डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज ने किया और यह तीसरी वैक्सीन है जो इंडिया में कोरोना संक्रमण के विरुद्ध लड़ने में सहायक होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *