Saturday, April 17

रवि किशन का शानदार पहल खुद बनाई आपदा राहत टीम ऐसे लोगो का हो रहा उधार, HELPLINE जारी

मजदूरों के भोजन की कर रहे व्‍यवस्‍था

सांसद रवि किशन की ओर से शहर में कोरोना आपदा राहत सामग्री का वितरण किया जा रहा है। हाइडिल कॉलोनी मोहद्दीपुर की मलिन बस्ती मेें राहत सामग्री का वितरण किया गया। सांसद ने इसे लेकर टीम भी बनाई है, जो दिल्ली, मुंबई, हरियाणा से आने वाले गरीब मजदूरों के खाने का इंतजाम कर रही है। टीम में क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मेंद्र सिंह, क्षेत्रीय मंत्री प्रदीप शुक्ला, हिंदू युवा वाहिनी के महानगर अध्यक्ष रणंजय सिंह जुगनू, अष्टभुजा श्रीवास्तव, शिवेंद्र पांडेय, अनुपमा पांडेय, सोनू द्विवेदी आदि शामिल हैं। सांसद ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। यह नंबर है- 9415800601 (सांसद प्रतिनिधि), 9506060006 (पीआरओ, सांसद), 9415258620 (क्षेत्रीय मंत्री, भाजपा)। सांसद इस समय मुंबई स्थित अपने आवास में आइसोलेशन में हैं।

 

 

फिजिकल डिस्टेंस का करें पालन

एसडी इंटरनेशनल समूह के चेयनमैन विजय चांदवासिया कोरोना महामारी की भयावहता को देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन का जो कदम उठाया है वह हम सभी के हित में है। जितना ही हम फिजिकल डिस्टेंस का पालन करेंगे उतनी ही जल्दी उस पर काबू पाया जा सकता है। लोग इसे गंभीरता से लें अन्यथा इसका परिणाम भयावह होगा। इस महामारी से दुनिया के अधिकतर देश प्रभावित हैं, अमेरिका, इटली, स्पेन, चीन आदि देशों से हमे सबक लेते हुए सतर्क रहने की जरूरत है। प्रशासन लोगों तक जरूरत का सामान पहुंचाने की हर संभव कोशिश कर रहा है। ऐसे मुश्किल भरे हालात में घर पर ही रहकर शासन-प्रशासन की मदद कीजिए। हमारी जरा सी लापरवाही बहुत सारे लोगों को बड़ी मुसीबत में डाल सकती है।

 

हम सबके हित के लिए है लॉकडाउन

शिक्षक अनिता चंद्रा का कहना है कि चीन, अमेरिका, इटली, स्पेन, इरान और फ्रांस में कोरोना वायरस से मची तबाही का मंजर पूरी दुनिया देख रही है। सारे संसाधन होते हुए भी इन देशों की सरकार अपने नागरिकों को नहीं बचा पा रही है। अगर हमलोगों ने लॉकडाउन का सही से पालन नहीं किया तो हमारे देश की स्थिति बेहद खराब हो सकती है। इस जानलेवा बीमारी से बचने का सबसे सही इलाज यही है कि अपने-अपने घरों में रहें। न किसी के घर जाएं और न किसी को घर बुलाएं। छोटी सी लापरवाही भी भारी पड़ सकती है। स्वास्थ्य से बढ़कर दुनिया में दूसरी कोई नेमत नहीं हो सकती। सरकार ने जो भी कदम उठाए हैं वह हमलोगों के भले के लिए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *