Tuesday, November 24

आपकी एक शिकायत और गयी नौकरी, बिजली निगम ने उठाया शख्त कदम गोरखपुर में 85 रीडर

सरकार ने मीटर लीडरों के खिलाफ लिया एक सख्त कदम। जो भी मीटर रीडर गलत रीडिंग वाला बिल निकालेगा उसकी नौकरी छीन ली जाएगी। शहर में 12 मीटर रीडर के गलत बिल बनाने वालों के नाम मांगे गए हैं। गोरखपुर में मीटर रीडिंग का काम बिजनेस कंसलटिंग एंड आईटी सॉल्यूशन को सौंपा गया है।

 

 

इससे पहले भी कंपनी को कई बार चेतावनी दी जा चुकी है परंतु लगातार गलत बिल निकालने वाले मीटर रीडर के खिलाफ सख्त कदम उठाया जाएगा। मंगलवार को अधीक्षण अभियंता शहर यू सी वर्मा ने टाउन हाल के अधिशासी अभियंता नवनीत प्रजापति, बक्शीपुर वाईएन राम, मोतीपुर के वी के चौधरी और रपतीपुर के मुदित तिवारी के साथ बैठक की। अक्टूबर में 78 सौ से ज्यादा ऑडियो सीडी पर बिल बनाने पर नाराजगी जताई और सर्वाधिक ऑडियो बिल बनाने वाले तीन तीन मीटर रीडरो के नाम मांगे।

 

 

 

अधीक्षण अभियंता ने कहा कि गलत बिल बनाने से उपभोक्ताओं को तो अधिक परेशानी होती ही है साथ ही साथ बिजली विभाग के अफसरों को भी बहुत परेशानी उठानी पड़ती है।मीटर रीडरो को 1 महीने का समय और दिया गया है परंतु इसके बाद भी सुधार ना आने पर इनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

 

 

मीटर रीडर को प्रोत्साहित करने के लिए बिजली निगम इन्हें पुरस्कृत करेगा। शहर में कुल 85 मीटर रीडर है । अधीक्षण अभियंता ने बोला कि अच्छा काम करने वाले मीटर रीडर रोको 26 जनवरी 2021 में पुरस्कृत किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *