Friday, November 27

गोरखपुर जंक्शन पर अपराधियों का बचकर निकलना अब मुश्किल, अब VSS तकनीक शुरू

रेलवे द्वारा रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था को और पुख्ता किया जाएगा। जिससे जहरखुरानी, छोरी, चुनौती और पॉकेट मारी जैसी घटनाओं पर रोक लगाया जा सके। रेलवे स्टेशन पर पहुंचने वाले शातिर अपराधी पकड़े जाएंगे इसके लिए स्टेशनों पर लग रहे हैं वीडियो सर्विलेंस सिस्टम( वीएसएस) उन्नत किया जाएगा।

 

 

पूर्वोत्तर रेलवे के गोरखपुर, लखनऊ और छपरा जंक्शन सहित 24 स्टेशनों पर वीएसएस कार्य कर रहा है। और आने वाले कुछ दिनों में यह सिस्टम सभी स्टेशनों पर लगा दिया जाएगा। वीएसएस के लिए प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर लगभग 40 सीसी कैमरे लगाए जाते हैं। इस सिस्टम और नई व्यवस्था के तहत स्टेशनों और ट्रेनों में अपराध करने वाले सूचीबद्ध अपराधियों की तस्वीर वीएसएस में लोड की जाएगी।

 

 

 

रेलवे स्टेशनों के अंदर अपराधियों के कदम पढ़ते ही वीएसएस उनकी पहचान कर सुरक्षा बल के जवानों को अलर्ट कर देंगे।लगाए जाने वाले सीसी कैमरा अधिक क्षमता वाले होंगे। इन कैमरों की क्षमता इतनी है कि 50 मीटर की दूरी के किसी भी व्यक्ति या वस्तु की स्पष्ट तस्वीर ले सकता है।

 

 

 

कंट्रोल रूम में बैठे हैं सुरक्षाकर्मी वीएसएस को जूम करके तस्वीर को और स्पष्ट देख सकते हैं। इस कैमरे की मदद से किसी भी एंगल से तस्वीर ली जा सकती है। सभी सीसी कैमरे को वीएसएस से जोड़ा जा रहा है ।ऐसे में सम्बंधित स्टेशन ही नहीं बल्कि मंडल और जोनल कार्यालय स्थित कंट्रोल रूम से भी प्लेटफार्म की निगरानी शुरू हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *