Sunday, May 16

केंद्र सरकार द्वारा नयी सुविधा अब किराया पर मिलेगा ई-रिक्शा तथा नई मॉडल की एंबुलेंस ।

गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )  विभिन्न सेवाओं को प्रदान करने के बाद अब सेंट्रल गवर्नमेंट ई- मोबिलिटी के द्वारा ग्रामीण जीवन को और भी आसान करने का प्रयत्न कर रही है। इलेक्ट्रॉनिक से तथा आईटी मंत्रालय के अधीन कार्य करने वाले कॉमन सर्विस सेंटर ने 10,000 जगहों पर अगले वित्तीय वर्ष तक ई-मोबिलिटी शुरू करने का ऐम रखा है। हालही में 100 जगहों पर इसको प्रारंभ किया जा चुका है

 

 

 इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी की तथा बाइक के साथ-साथ ई रिक्शे की भी बिक्री  –

जिससे के इलेक्ट्रॉनिक स्कूटी की तथा बाइक के साथ-साथ ई रिक्शे की भी बिक्री होगी।  यही नहीं बल्कि उसे किराए पर देने की भी व्यवस्था की गई है। इलेक्ट्रॉनिक दोपहिया वाहन बनाने वाली कंपनियों के साथ इस कार्य के लिए कॉन्ट्रैक्ट किया गया है।

 

गांव में ही ग्रामीणों को लोन दिलाने के लिए बैंकों के साथ समझौता किया गया है। सीएससी के प्रबंध निदेशक दिनेश त्यागी से जब बातचीत की तो उन्होंने कहा सरकार का उद्देश्य गावों के जीवन को सहज बनाने के साथ-साथ गांवों में इलेक्ट्रॉनिक वाहन को प्रोत्साहन देना है। इसके साथ ही गांवों में सार्वजनिक वाहन भी हर दिन में एक दो बार जाते हैं तथा गांव हाईवे से भी काफी दूर होते हैं। और पेट्रोल पंप की दूरी भी काफी ज्यादा होती है। इन सब को ध्यान में रखते हुए ग्रामीणों की मोबिलिटी शहर वासियों के देखते हुए कम होती है और यातायात के साधन के ना होने से ग्रामीण चाह कर भी कोई कई बार आवागमन नहीं कर पाते हैं।

 

नए मॉडल में तैयार हुए ई रिक्शा

बता दें मोबिलिटी को बढ़ाने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों को सही तरीके से गांवों में उपलब्ध कराने के लिए अभियान प्रारंभ किया गया है जिससे शहर के तरीके से गांवों में भी मोबिलिटी बढ़ाई जा सके कुछ जगहों पर ई रिक्शे को एंबुलेंस के तरीके से तैयार किया गया है जिससे के ग्रामीणों को आसानी से अस्पताल पहुंचाया जा सके।

 


ग्रामीण क्षेत्र में चार्जिंग स्टेशन लगाने का कार्य प्रारंभ सीएससी ग्रामीण क्षेत्रों में चार्जिंग स्टेशन लगाने का कार्य प्रारंभ हो चुका है। वहीं हर एक सीएससी पर बैटरी स्वैपिंग की सुविधा भी प्रारंभ करने की योजना तैयार की जा रही है जिससे कि इलेक्ट्रिक वाहन चलाने के दौरान बैटरी के खत्म हो जाने पर सफल वाहन चालक को या फिर यात्रियों को दिक्कत ना देनी पड़े। उन्होंने कहा कि किराए पर स्कूटर और रिक्शा उपलब्ध होने से ग्रामीण इलाके के लोगों को भी लिटी बढ़ जाएगी और प्रत्येक महीने इस अभियान का को बढ़ाया जाएगा। सीएससी ग्रामीण मोबिलिटी अभियान पेट्रोल डीजल ईंधन के जगह पर इलेक्ट्रिक से गाड़ी चलाने के लिए लोगों को को प्रेरित करेगा। बहुत जल्द केंद्रीय सड़क सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इलेक्ट्रिक अभियान का की शुरुआत भी की है जिसके जरिए देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के चलन को बढ़ावा मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *